ईकॉमर्स में आईओटी के कार्यान्वयन को जानें

0
34

अनुसंधान कंपनी स्टेटिस्टा के मुताबिक, भारत की खुदरा ई-कॉमर्स बिक्री वर्ष २०१७ में करीब २०.०१ अरब डॉलर तक पहुचने की उम्मीद की जा रही है। वहीं, वर्ष २०२१ तक ४५.१७ अरब डॉलर तक इसके बढ़ने की उम्मीद है। यहां तक कि इस वृद्धि के साथ, इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स (आईओटी) ई-कॉमर्स को दूसरे स्तर तक ले जा सकता है।

आईओटी ने खुदरा स्टोरों में अपना काम शुरू कर दिया है, और आने वाले वर्षों में प्रौद्योगिकियों को पारंपरिक खुदरा प्रक्रिया को बाधित करना जारी रहेगा।

बीकन पर विचार करें, ऐसे डिवाइस जो खुदरा विक्रेताओं स्वचालित रूप से दुकानदारों के स्मार्टफोन पर सूचनाओं और डिस्काउंट भेजते हैं, जब वे स्टोर में प्रवेश करते हैं। आपने अपने पसंदीदा स्टोरों में डिजिटल साइनेज भी देखे होंगे। इन संकेतों से वास्तविक समय में स्टोर्स में विज्ञापन और मूल्य परिवर्तन पर जोर दिया जाता है, जिससे उपभोक्ताओं के लिए लक्ष्य बिक्री होती है। बाजार और बाजार की उम्मीद है की डिजिटल साइनेज की वैश्विक बाजार मूल्य वर्ष २०१५ में १५.८ अरब डॉलर सेवर्ष २०२० तक २३.७ अरब डॉलर हो जाएगा।

आईओटी और ई-कॉमर्स अब तक समानांतर में विकसित हुए हैं। वे अब एक आम यात्रा पर चल रहे हैं जहां हर जुड़े वस्तु संभावित ई-कॉमर्स अचल संपत्ति बन जाती है।

वे यह दिखाते हैं कि ई-कॉमर्स ग्राहकों को आइटमों के असंख्यों में ब्राउज़ करने और चयन करने के बजाय आवेग और संदर्भ के आधार पर क्रय विकल्प देने की दिशा में विकसित होते हुए देखा जा रहा है। बतादें की वे यह भी दिखाते हैं कि जब खोज और भुगतान घर्षण हटा दिया गया है, तो क्रय निर्णय कितना सरल होता है।

ई-कॉमर्स से घर्षण को दूर करने के लिए आईओटी के आवेदन को प्रदर्शित करने के यह कुछ मामले।

  • पीइंटरेस्ट का बएबल बटन

सामाजिक नेटवर्क पीइंटरेस्ट, जो अपने सदस्यों को इंटरेस्ट की चीजों की तस्वीरें खींचने देता है, जिसने वर्ष २०१५ में खरीदे जाने वाले बटनों को पेश किया था, जिसके जरिये साइट को मोबाइल शॉपिंग मॉल में बदला गया। बएबल पिन साइट के मोबाइल ऐप उपयोगकर्ताओं को एक सरल और सुरक्षित चेकआउट प्रदान करते हैं। उपयोगकर्ताओं को केवल एक ही निजी बिलिंग जानकारी की आवश्यकता है, और वह है खरीदारी अनुभव में घर्षण को कम करना।

ब्रांड और व्यापारियों के लिए, यह ग्राहकों तक पहुंचने का एक नया तरीका है, जबकि शॉपिंग के अनुभव पर पूर्ण नियंत्रणरखने के साथ।

  • अमेज़ॅन डैश रिप्लेसमेंट सर्विस (डीआरएस)

अमेज़ॅन डीआरएस एक घर्षणहीन शॉपिंग अनुभव प्रदान करने के लिए ई-कॉमर्स के साथ चीजों को इंटरनेट से जोड़ता है, यह उपभोक्ताओं और ब्रांडों के लिए समान रूप से जीत है। यह एक ऐसा एपीआई है जो भौतिक वस्तुओं की स्वचालित पुनःपूर्ति को मैन्युअल रूप से कनेक्टेड बटनों से या स्वचालित रूप से कनेक्ट किए गए उपकरणों और उपकरणों से सक्षम बनाता है।

डीआरएस केवल शुरुआत है क्योंकि अमेज़ॅन ने अग्रिम शिपिंग के लिए पेटेंट दायर किया था, जिससे इसके बैकएंड आधारभूत संरचना उपभोक्ताओं के भविष्य के मांगों की अपेक्षा कर सकती है और डिलीवरी के समय को बेहतर बनाने के लिए इन्हें निकटतम शिपिंग हब में इंतजार करने में जगह दें दिया जायेगा।

संबद्ध बटन

आईओटी ई-कॉमर्स वस्तुओं के लिए किसी भी जुड़े चीज़ को सहबद्ध बनने की अनुमति देगा, जो ‘चीज़’ के साथ खपत होती है। कोई भी कनेक्ट वस्तु एक वितरण की सतह बन सकती है और ई-वाणिज्य वस्तुओं और सेवाओं के लिए प्रत्येक प्रकार और विवरण के लिए ग्राहक अधिग्रहण चैनल। आईओटी वेबसाइटों और एप्लिकेशन से परे ई-कॉमर्स सहबद्ध और उपयोगकर्ता अधिग्रहण योजनाओं को प्रत्येक भौतिक सतह में फैले हुए हैं। अमेज़ॅन डैश और डीआरएस सर्विस इस मॉडल की एक शुरुआती झलक देते हैं।

ग्राहकों की एलटीवी को बढ़ाना

आईओटी ई-कॉमर्स को ग्राहक यात्रा की चौड़ाई में फैलाने की अनुमति देगा। विज्ञापन व्यवसाय की अच्छे ग्रेल उपभोक्ता व्यवहार को ट्रैक करने में सक्षम है, जागरूकता से खरीद करने के इरादे से और वेब भर में, मोबाइल और तेजी से भौतिक जुड़े स्पर्श अंक की एक संख्या बनती जा रही है।

Banner