स्टार्टअप्स को इस बजट में मिलेंगे बड़े तोहफे

0
211

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री निर्मला सीतारमण ने स्टार्टअप कंपनियों को बजट में अतिरिक्त कर लाभ दिए जाने की संभावना का संकेत दिया है। इस तरह से अगले महीने पेश होने वाले बजट में स्टार्टअप्स के लिए सरकार राहत का एलान कर सकती है। सीएनबीसी-आवाज़ को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक स्टार्टअप्स के लिए इनकम टैक्स छूट की सीमा बढ़ाई जा सकती है। साथ ही, सर्विस टैक्स में भी उन्हें रियायत दिए जाने की संभावना है।

बजट एक फरवरी को पेश किया जाना है।

  • मंत्रालय ने पहले ही उभरते उद्यमियों को प्रोत्साहन देने के लिए वित्त मंत्रालय से स्टार्टअप्स के लिए कर अवकाश को मौजूदा के तीन साल से बढ़ाकर सात करने की मांग की है।
  • सीतारमण ने कहा कि कर और कर संबंधित मामले हमेशा स्टार्ट अप्स से आते हैं, क्यों की ये उनपर ठोस असर डालते हैं और इस बारे में कुछ काम हो चुका है, और हो रहा है। अब देखना है कि बजट में क्या होता है। उन्होंने कहा कि मंत्रालय ने उद्यमियों के सभी सुझावों को एकत्रित किया है और उसे वित्त मंत्रालय को सौंपा है। कर अवकाश को बढ़ाकर सात साल करने के बारे में सीतारमण ने कहा कि हमने यह सुझाव वित्त मंत्रालय को दिया है। हमें इंतजार करना होगा।
  • सूत्रों का कहना है कि स्टार्टअप्स के लिए इनकम टैक्स में ७ साल तक छूट देने का एलान संभव है, जबकि फिलहाल इनकम टैक्स में ३ साल की छूट मिलती है। अप्रैल २०१६ से पहले के स्टार्टअप को भी टैक्स छूट संभव है। फिलहाल १ अप्रैल २०१६ के बाद के स्टार्टअप को टैक्स छूट दी जा रही है।
  • सूत्रों के मुताबिक स्टार्टअप्स के लिए सर्विस टैक्स छूट का दायरा भी बढ़ाया जा सकता है। उद्योग मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय के पास स्टार्टअप्स के लिए टैक्स छूट का प्रस्ताव भेजा है। स्टार्टअप्स के लिए टैक्स छूट के प्रस्ताव पर दोनों मंत्रालय में चर्चा हुई है। उद्योग मंत्रालय को प्रस्ताव मंजूर होने की उम्मीद है। (pc:udemy)

Banner